Header Ads

ad728
  • Breaking News

    Gentleman Kise Kehte Hai by Ayushmann Khurrana


    Gentleman Kise Kehte Hai?

    You Know, मर्द का एक Stereotype है,
    बड़ी Macho वाली Hype है,
    वो घर चलाएगा, वो लड़की को बचाएगा...
    वो रोयेगा नहीं, Weak नहीं होगा...
    मुझे लगा ये तो साला कुछ ठीक नहीं होगा...

    मुझे ना Hero, ना Savior,
    ना सुपरमैन बनना था...
    जो रो सके, जो गा सके,
    किसी को बचा पाए तो बचा सके,
    ऐसा Man बनना था...

    मैं हिंदी में सेंटी होता हूँ,
    पंजाबी में गाता हूँ...
    ऐसा Man हूँ..
    टाई बांधना मुझे नहीं आता,
    पर खाना ठीक ठाक बनाता हूँ...
    ऐसा Man हूँ...

    तुम्हारी इंग्लिश Slow है या Fast है,
    मुझे फ़र्क नहीं पड़ता...
    तुम Gay हो, Straight हो, तुम्हारी क्या Caste है,
    मुझे फ़र्क नहीं पड़ता...

    I know that the ads have told you to play it too Cool,
    And Father asked you to be disciplined
    As if you are always in School.

    उन्होंने बोला, Gentleman बनो...
    But ये भी बोला कि,
    "Man का Gentle होना खराब है"
    क्योंकि तुम्हें तो Honour बचाना है,
    जादू वाला परफ्यूम लगाना है,
    उसी से लड़कियां तुम पर मरेंगी...

    पर मरेंगी क्यों?
    उन्हें मरना नहीं चाहिए...
    मैं जहाँ हूँ, जहाँ खड़ा हूँ,
    उन्हें डरना नहीं चाहिए...
    Pink और Pink Floyd के बीच में,
    वो कुछ भी पसंद कर सकता है...
    अँधेरा ज्यादा हो तो वो भी डर सकता है...
    क्योंकि Violence उसके साथ भी हुआ है...
    Patriarchy ने उसको भी गलत तरीके से छुआ है...

    वो जल्दी बड़ा होने के बोझ के नीचे बड़ा होता है,
    दिल उसका भी 300 ग्राम का ही होता है..
    पर उस पर लोहे का सोशल कवर चढ़ा होता है..
    उसे बस, कार और गन के खिलौनों में मत बांधो,
    जब वो बच्चा हो
    जरुरी नहीं कि ड्राइवर अच्छा हो,
    हो सकता है कि मशीनों के काम में थोड़ा कच्चा हो..
    पर मर्द होने की इकलौती शर्त यही है कि सच्चा हो

    अब जरुरी नहीं कि मेरा Passion गिटार हो, कूल हो,
    मेरे हाथ में लड़की के लिए फूल हो,
    हो सकता है कि मेरे पास लम्बी गाड़ी हो,
    हो सकता है कि लाइफ की हर एक Ride Pool हो

    तुम्हें पता है, बच्चों को मैं भी संभालता हूँ,
    वो थक के आती है तो अदरक वाली चाय भी उबालता हूँ,
    लड़का और लड़की में फ़र्क बहुत है,
    और ये फ़र्क खूबसूरत है,
    ये मैं जनता हूँ..
    पर फ़र्क करने को सबसे बड़ा गुनाह मानता हूँ..

    शायद इसीलिए, इसीलिए अपने बेटे से कहता हूँ,
    कि जरुरी नहीं उनके लिए कुर्सी खींचना,
    या गाड़ी का दरवाजा खोलना,
    पर जब कुछ गलत हो, तो सबसे पहले बोलना..
    क्योंकि Six Pack से नहीं बनते है मर्द,
    ना ज्यादा कमाने से बनते है..
    ना चिल्लाने से, ना आंसू छुपाने से बनते है,

    किसी और को ठंड लगती है तो दिल उसका भी सर्द होता है,
    कि जिसको दर्द होता है, असल में वही मर्द होता है..

    तू चाहे Carpet पे सोये,
    चाहे Red Carpet पे चले,
    Let me tell you, you are the most powerful,
    As long as their lives
    A Gentleman in You

    English Version

    What makes a true Gentleman?
    Is it his suit and his tie?
    Or the fact that he isn’t afraid to cry?
    Is it the way he shoulders tradition?
    Or the fact that he is a good son?
    The way he treats women
    Or the way he is a master in the kitchen?
    Is it the way he stands up for what is right?
    The way he is always fair in a fight?
    Or is it in his heart,
    Which pains when another is hurt?


    No comments

    Post Top Ad

    ad728

    Post Bottom Ad

    ad728