Aajkal Har Koi Ladko Ko Bura Batata Hai by Neha Rai

the digital shayar
Kyon Unki Ankho Se Nikla Ansu Har Koi Dekh Nahi Pata Hai..
Aaj Kal To Har Koi Ladko Ko Hi Bura Batata Hai..

क्यों उनकी आँखों से निकला आंसू हर कोई देख नहीं पाता है..
आज कल तो हर कोई लड़को को ही बुरा बताता है..

वो करते है प्यार हमसे खुद से भी ज्यादा..
फिर क्यों उनके प्यार का हिसाब हर बार लगाया जाता है..
आज कल तो हर कोई लड़को को ही बुरा बताता है..

अपने लिए कभी भी नहीं करते कोई फरमाइश ये..
हर बार परिवार की खुशियों में ही इन्हे भी खुश पाया जाता है..
फिर भी ना जाने क्यों हर कोई लड़को को ही बुरा बताता है..

माना नजरें ख़राब होती है कुछ लड़को की बेशक..
मगर उनकी गलतियों का इलज़ाम हर किसी पर क्यों लगाया जाता है..
आज कल तो हर कोई लड़को को ही बुरा बताता है..

दिल के टूट जाने पर भी ये नहीं कहते बेवफा उसे..
लेकिन धोकेबाजी का ताज इनके सर पे ही सजाया जाता है..
ना जाने क्यों आज कल हर कोई लड़को को ही बुरा बताता है..

पैसे ना होने पर या कम होने पर भी ये करते है सबकी जरूरतें पूरी..
फिर इनके सपने पुरे करने के वक़्त अपनी उधारियों का बोझ क्यों गिनवाया जाता है..
और ये सब अनदेखा करके भी आज कल तो हर कोई लड़को को ही बुरा बताता है..

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ना ना बेटा, तुमसे ना हो पायेगा ये कॉपी