Best Friend Poetry by Tavneet Singh


Best Friends Poetry, Best Friend Poem, Friendzone

आखिर तुम क्यों दिल के इतने पास हो,
कोई तो वजह जरूर है जो तुम इतने खास हो..
मेरे दोस्तों में सबसे पहले तुम्हारा ही नाम आता है,
रब की कसम हमारा पिछले कई जन्मो से नाता है..
6th क्लास में रब में मुझे तुझसे मिलाया था,
और उस मुलाकात में ही मैंने तुम्हें मेरी जिंदगी का हिस्सा बनाया था..
वो वक़्त मैं कैसे भूल जाऊं जो मैंने तेरे साथ बिताया था..
क्यूंकि तुम्हारी हर एक आदत ने मुझे दीवाना जो बनाया था..
उस वक़्त कुछ दोस्त तुम्हारे पास मुझसे ख़ास थे,
लेकिन तुम तो मेरे दिल के तब भी बहुत पास थे..
9876543210, यही वो नंबर है जो मैं अक्सर मिलाया करता था,
जब भी तुम्हारी पक पक सुनने को मेरा दिल तरसता था..
ज्यादातर तेरे ही बारे में सोचा करता था,
यहां तक की हैंडराइटिंग भी तेरी ही कॉपी किया करता था..
लिखावट तेरी बेमिशाल थी, और ड्राइंग भी कमाल थी..
तूने भी अपनी दोस्ती तब खूब निभाई,
जब मेरे हिस्से की ड्राइंग भी तूने थी बनाई..
टीचर भी देखकर समझ लिया करता था,
और मेरी जगह तेरी ही तारीफ किया करता था..
तेरे बिना मेरा वक़्त कहाँ कटता था,
शायद इसलिए जब कोई तुझसे बात करे,
तो मेरा दिल अंदर ही अंदर जलता था..
सच कहूँ तो तू मेरे लिए एक अनजान पहेली थी,
जिसमे उलझने का दिल हमेशा करता था..
आखिर उस अनजान पहेली ने कुछ ऐसा उलझाया,
कि उलझते हुए भी वो सुलझने लगी
जो पहेली मेरे दिल के पास थी,
वो अब मेरी जिंदगी बनने लगी थी..
अब तक जिंदगी में मैंने कई अच्छे दोस्तों का साथ पाया है,
और मैंने सबको तेरी बाते बता बता के पकाया है..
उन सबको लगता है कि तू मेरे लिए बहुत ख़ास है,
और तू ही सबसे जयादा मेरे दिल के पास है..
लेकिन हकीकत तो ये है कि ये सब दोस्त मेरे दिल के पास है,
और तेरे लिए बहुत खास है,
क्यूंकि ये तो केवल रब ही जनता है कि,
किसका दिल किसके पास है?
कहीं कहीं मैं आज भी तुझपे मरता हूँ,
और कही तुझे मुझसे अच्छा कोई और ना मिल जाये,
इस बात से मन ही मन में डरता हूँ..
इसी डर से रब से यही दुआ करता हूँ,
कि हे! रब मुझपे एक एहसान जरूर करना,
इस दोस्त को मुझसे कभी भी जुदा ना करना..

Mana Ki Umar Bhar Saath Nahi Rahe Hum by Amit Auumkaar


Mana Ki Umar Bhar Saath Nahi Rahe Hum
Par Aisa Mat Kaho Ki Wo Pyaar Nahi Tha..

हैल्लो, मेरा नाम अमित ओंमकार है और जो मैं आपको आज सुनाने वाला हूँ ये सबके लिए नहीं है मगर लाखों लोगो की जिंदगी की पूरी कहानी है इसमें,
कि माना की उम्र भर साथ नहीं रहे हम,
पर ऐसा मत कहो कि वो प्यार नहीं था..
एक दूसरे का नाम हमारी सांसो में कभी शुमार नहीं था,
माना की उम्र भर साथ नहीं रहे हम,
पर ऐसा मत कहो कि वो प्यार नहीं था..
ये खूबसूरत वक़्त की एक खूबसूरती ये भी होती है,
कि वो गुजर जाता है,
पर गुजरते वक़्त के साथ इंसान अक्सर बदल जाता है
अब उस बदलते हुए वक़्त में हम दोनों को,
एक दूसरे पर कुछ खासा ऐतबार नहीं था,
माना की उम्र भर साथ नहीं रहे हम,
पर ऐसा मत कहो कि वो प्यार नहीं था..
गिनती के ही सही पर जिंदगी के सबसे खूबसूरत लम्हें बिताये है हमने एक दूजे के साथ,
सारे ना सही पर कुछ तो वादे पूरी तरह निभाए है हमने एक दूजे के साथ..
अब इन कसमों और वादों का हमारे दिलो में ज्यादा दिन खुमार नहीं था..
माना की उम्र भर साथ नहीं रहे हम,
पर ऐसा मत कहो कि वो प्यार नहीं था..
ये उन कहानियों के लिए जो ज्यादा दिन नहीं चली,
ये उन कहानियों के लिए जो अधूरी रह गयी..


Backspace main Chupi Reh gyi by Jai Ojha


ऐसा बहुत बार होता है दुनिया में कि हम अपनों को बहुत कुछ लिखना चाहते है, लेकिन लिख नहीं पाते. Express करना चाहते है लेकिन Express कर नहीं पाते..क्यूंकि हमें उन्हें खोने का डर रहता है..
एक लड़का है जो अपनी दोस्त से प्यार कर बैठा है, वो दोस्त को Propose कर चाहता है लेकिन वो कर नहीं पा रहा..क्यूंकि उसे अपनी दोस्ती खोने का डर है..वो I love You लिखता है और Backspace दबा देता है..वो लड़का कोशिश करेगा कहने कि मगर कह नहीं पायेगा, उसी के ऊपर ये Poetry है..
Kuch Kahaniyan Hamare Darmiyaan,
Backspace main Chupi Reh gyi..
एक दोस्ती मोहब्बत में तब्दील होनी रह गई,
एक दोस्ती मोहब्बत में तब्दील होनी रह गई,
कुछ कहानियां, हमारे दरमियाँ,
Backspaceमें छुपी रह गई..
अंजाम तो तुम बेशक थी मेरा, तुम ही मेरी इत्तिदा भी थी..
दोस्त तो तुम थी मगर, दोस्त से कुछ ज्यादा भी थी..
अरे, अबके सावन लिखी थी तुमको कई चिट्ठियां,
शायद बारिशों में थी बह गई..
कुछ कहानियां, हमारे दरमियाँ, Backspace में छुपी रह गई..
अबके सावन लिखी थी तुमको कई चिट्ठियां,
शायद बारिशों में थी बह गई..
और जुबान तो मुकरती आई है, मुकर ही जाती,
ये ख़ामोशी संजीदा थी, तुम्हे समझ में आनी रह गई..
कुछ कहानियां, हमारे दरमियाँ,
Backspaceमें छुपी रह गई..
हम लबो से कह ना पाए हाल दिल कभी,
और वो समझे नहीं ये ख़ामोशी क्या थी?
वो बात ऐसी थी, कि दिल से शुरू होती,
और जुबान पर आकर रुक जाती..
एक दोस्ती हर मर्तबा, मोहब्बत की दहलीज से,
वापस लौटकर जाती..
और जब फलाने का, ज़माने का सबका हाल लिखा तुमको,
फिर हाल दिल लिखने में उँगलियाँ क्यों थमी रह गई..
कुछ कहानियां, हमारे दरमियाँ, Backspace में छुपी रह गई..
और ताउम्र अफ़सोस रहा, कि आंखे तुम मेरी कभी पढ़ ना सकी,
और एक दास्तान रफ्ता रफ्ता अश्कों में थी बह गई..
कुछ कहानियां, हमारे दरमियाँ,
Backspaceमें छुपी रह गई..
मैं कोशिशें तुम्हें लिखने की सेहरो शाम करता ही रहा,
लेकिन एक ख्याल तुम्हें खोने का हर मर्तबा उठता ही रहा..
एक झूठ था जो बाजार में बड़ी आसानी से बिक गया,
और सच्चाई बेखौफ बेमलाल किसी कोने में दबी रह गई..
और दोस्ती अगर होती तो अब तक बैचैन बेकाबू सी हो जाती,
ये मोहब्बत ही रही होगी जो ख़ामोशी से थी बह गई..
कुछ कहानियां, हमारे दरमियाँ,
Backspaceमें छुपी रह गई..
कि बिन इश्क़ का इजहार किये, कैसे हो आशिक़ का गुजरा..
When a guy loves a girl,
The whole world knows about it,
Except the girl!
बिन इश्क़ का इजहार किये, कैसे हो आशिक़ का गुजरा..
बस तुम्हारे सिवा जिससे भी मिले, हर शख्स से किया जिक्र तुम्हारा..
हम लौट रहे थे महखाने से कि आज हाल दिल सुना देंगे,
बस एक नजर तुम्हें देखा और फ़ौरन सारी उतर गई..
कुछ कहानियां, हमारे दरमियाँ, Backspace में छुपी रह गई..
हम लौट रहे थे महखाने से कि आज हाल दिल सुना देंगे,
बस एक नजर तुम्हें देखा और फ़ौरन सारी उतर गई..
और जूनून होता तो शायद तुमको पा लेता बड़ी आसानी से,
ये इश्क़ था साहिब, इसलिए बातें अनकही थी रह गई
कुछ कहानियां, हमारे दरमियाँ,
Backspaceमें छुपी रह गई..

Jo Karte Hai Ek Tarfa Pyaar By Amit Auumkar


Wo Hote Hai Lalach Aur Matlab Ke Bandhano Ke Us Paar
Wo Log Jo Karte Hai Ek Tarfa Pyaar

वो होते है लालच और मतलब के बंधनो के उस पार,

वो लोग जो करते है एक तरफा प्यार..
सवाल बहुत होते है उनके मन में भी अपने इश्क़ को लेकर,
पर उन्हें नहीं होता किसी के जवाबों का इंतज़ार..
अपनी धुन में मस्त मगन रहते है वो यार,
बात कर रहा हूँ उनकी,
जो करते है एक तरफा प्यार..
आसपास ही रहते है तुम्हारे,
जबान पर भले ही लगे हो ताले..
पर दिल में जज्बात है बेशुमार,
तुम्हे सोचकर हो जाते है खुश,
तुम्हे देखकर हो जाते है गुलज़ार,
ना जाने कितने है अपने जैसे,
जो करते है एक तरफा प्यार..
ना तुम्हें पाने का लालच रखते है,
ना तुम्हें हासिल करने की ज़िद है उनकी,
तुम ना भी मिलो तो भी खुश है वो,
अरे कमाल की फितरत है उनकी,
अपनी ही है उनकी एक दुनिया,
अपना ही है उनका एक संसार,
कमाल के होते है वो लोग,
जो करते है एक तरफा प्यार..
ना हक़ जताते है तुम पर कभी,
ना मिलने की फरमाइश करते है..
ना देते है नसीहत कभी,
ना कभी अपने प्यार की नुमाइश करते है..
मैंने बड़े देख है ऐसे दिलवाले,
मेरा नाम है अमित ओंमकार..
और मैं सलाम करता हूँ उन लोगों को,
जो करते है एक तरफा प्यार..


Wo Tumhare Friendzone Mein Hai by Amit Auumkar


Agar Tumhe Lagta Hai ki Acche Ladke Kahan Hai?
Toh Wo Tumhare Friendzone me Hain.

To All the Lovely Ladies out there

जो बस सच्चे प्यार की तलाश में रहती है.
और हर बार किसी गलत लड़के के चक्कर में पड़ जाती है,
और अब शायद ये सोचने लगी है कि अच्छे लड़के होते ही नहीं है.
“The Good Guy is a Myth”
तो अगर तुम्हे लगता है कि अच्छे लड़के कहाँ है?
तो तुम्हारी जानकारी के लिए बता दूँ,
With all the Love and Respect Ladies
वो तुम्हारे Friendzone में है.
अगर तुम्हे लगता है कि अच्छे लड़के कहाँ है?
वो तुम्हारे Friendzone में है.
You Know, अगर Monday Morning को भी जल्दी उठकर,
कोई लड़का सिर्फ इस बात के लिए Excited है कि,
वो आज फिर तुम्हे घर से ऑफिस Drop करेगा.
और तुम्हारे साथ मिलने वाले इतने से टाइम की वजह से वो खुश है,
वो थोड़ा सा भोला है, थोड़ा सा बुद्धू है,
But Trust Me, वो एक अच्छा लड़का है.
He is a good Guy
पर दुःख इस बात का है कि,
वो तुम्हारे Friendzone में है.
अगर अपने काम को पूरी शिद्दत और ईमानदारी से करने वाला वो लड़का,
ऑफिस से एक दिन की छुट्टी सिर्फ इस बात के लिए ले लेता है कि,
वो तुम्हारे Birthday के लिए कोई अच्छा सा गिफ्ट ढूंढ सके,
तो वो थोड़ा सा बेवकूफ है, थोड़ा सा पागल है,
But Trust Me, He is a good Guy
वो एक अच्छा लड़का है.
और अगर तुम्हे लगता है कि अच्छे लड़के कहाँ है?
तो तुम्हारी जानकारी के लिए बता दूँ Madam,
वो तुम्हारे Friendzone में है.
You Know, जब तुम अपने काम और अपनी Personal life के stress को दूर करने के लिए,
अपने दोस्तों के साथ लेट नाईट पार्टी करती हो,
तो कोई एक लड़का है जो अपनी रातों की नींदें काटकर,
तुम्हारे एक Msg का इंतज़ार करता है कि तुम घर पहुंची या नहीं.
और अगर आधी रात को ३ बजे, I have reached home Safely.
तुम्हारी तरफ से इतना सा Msg पाकर वो लड़का खुश है,
तो वो थोड़ा सा बुद्धू है, थोड़ा सा ज्यादा Hopeful है,
But Trust Me, वो एक अच्छा लड़का है.
He is a good Guy
पर दुःख इस बात का है कि,
वो तुम्हारे Friendzone में है.
जब वैलेंटाइन डे आता है और प्यार के इस मौसम में,
तुम्हे किसी Cool Dude से इश्क़ हो जाता है, जोकि बहुत नेचुरल है.
तो तुमसे कई सालो से इश्क़ करता हुआ वो लड़का,
अपने दिल को पत्थर कर लेता है और तुमको Advise देता है,
“सुनो, तुम वो उसके साथ डेट पर जाओगी ना,
तो वो Black Dress पहन कर जाना.
You look so Pretty in It.
तुम ये Red lipistic मत लगाना, It doesn’t suit you.
सुनो तुम्हारी स्माइल बहुत अच्छी है.
उससे मिलोगी ना तो एक बार स्माइल कर देना बस,
देखते ही फ्लैट हो जायेगा.
अगर तुमसे बेइंतहा इश्क़ करने के बावजूद वो लड़का,
सिर्फ तुम्हारी ख़ुशी के लिए पत्थर हो जाता है.
तो वो भले ही थोड़ा सा फ़िल्मी है, थोड़ा सा स्लो है.
लेकिन वो एक अच्छा लड़का है.
Trust Me, He is the good Guy
पर दुःख इस बात का है बस कि वो आज भी बस,
वो तुम्हारे Friendzone में है.
आज बहुत Pretty लगती हो तुम.
You look so Pretty, You look so beautiful.
तुम्हारे होंगे Instagram पे लाखो Followers,
और फेसबुक पे हज़ारों Fans.
लेकिन आज अगर तुम्हे लगने लगा है कि
आजकल के लड़के सिर्फ looks पर मरते है.
तो तुम्हे याद दिला दूँ कि जब स्कूल में तुम झल्ली लगती थी ना,
तब से लेकर आज तक तुम्हारा कोई दोस्त है.
जो सिर्फ तुम्हारे चेहरे पर एक मुस्कान लाने के लिए तरसता है.
सिर्फ तुम्हे स्माइल कराने के लिए अगर वो लड़का,
खुद को जोकर और अपनी जिंदगी को सर्कस बना लेता है ना,
तो वो थोड़ा सा Innocent है, थोड़ा सा बेवकूफ है,
But Trust Me, He is the good Guy
वो एक अच्छा लड़का है.
पर दुःख इस बात का है बस कि वो आज भी बस,
वो तुम्हारे Friendzone में है.
तुम अपने उस दोस्त को फ्रेंडज़ोने में ही रहने दो.
उससे जबरदस्ती इश्क़ लड़ाना, ऐसा नहीं कहता मैं,
और अगली बार जब उस दोस्त से मिलोगी ना,
तो उस Friendzone वाले दोस्त को एक बार,
“कसके गले लगाना” ये जरूर कहता हूँ मैं.
और बाकि कुछ करने की जरुरत है नहीं,
क्योंकि उनके लिए तो उतना ही काफी है.


Toh Friendzone Ho Tum by Ashish Mishra


Toh Friendzone Ho Tum by Ashish Mishra

अगर सच्ची मोहब्बत के नाम पर चार साल से इंतज़ार कर रहे हो,

तोFriendzone हो तुम..
रात में तीन बजे अपनी नींद ख़राब करके उसका कॉल उठा रहे हो,
तोFriendzone हो तुम..
उसके दिल के करीब हो पर उसके दिल में जगह नहीं बना पा रहे हो,
तोFriendzone हो तुम..
खाना तुम उसको अपने हाथो से खिला रहे हो, लेकिन वो कहती है,
किकाश मेरा बॉयफ्रेंड इतना Caring होता
तोFriendzone हो तुम..
गम कि स्टोरी उसकी है पर बेवजह आंसू तुम्हारे बह रहे है,
तोFriendzone हो तुम..
अगर उसकी याद मेंChanna Mareyaसुन रहे हो,
तोFriendzone हो तुम..
Friendzone एक ऐसी बीमारी है जो ठीक हो सकती है,
पर हम उसे ठीक कराना  ही नहीं चाहते..
ना जाने उसके गम में क्या खुशी है पाते..
एकतरफा ही सही इस प्यार में कुछ बात है..
दिल सह रहा है दर्द पर नहीं छोड़ना उसका साथ है..
पर एक दिन आता है तुम थक जाते हो,
उसको अपने दिल की बात बताते हो..
ये सुनके उसे लग जाता है शॉक,
उसने कभी नहीं सोचा था ये थॉट..
वो तुम्हें समझाती है ये हो नहीं सकता,
क्यूंकि उसका दिल किसी और के लिए है धड़कता..
ये सुनके तुम्हें जाता है गुस्सा,
पर तुम उसे कह देते हो अब तू जा..
और फिर एक पल में सब ख़त्म हो जाता है..
पर इसमें गलती उसकी है या तुम्हारी, ये समझ नहीं आता है..


Tumhe kabhi Us Angle se Nahi Dekha by Vihaan Goyal

Jab Tak Chaha Dil Se Khela, Fir Khali Riffle Ki  Tarah Fenka.
Ab Kehti Hai, You Are My Friend, Tumhe Kabhi Us Angle Se Nahin  Dekha.
जब तक चाहा दिल से खेला,
फिर खाली Riffle की तरह फेंका..
अब कहती है, “You are Friend”
तुम्हें उस Angle से नहीं देखा..
ये कहकर आयी पास मेरे, “You are Special, You Know?
चिपक के बैठी बाइक पे, Mc D, Costa, cafe chino.
जब नाची साथ में लगा के गाना,
तुम्ही हो बंधू, तुम्ही सखा,
अब कहती है तुम दोस्त हो यार,
तुम्हें उस Angle से नहीं देखा..
कहती थी, मैं कभी किसी को Hii नहीं करती,
सिर्फ तुम्हें Call करती हूँ..
बाकि किसी को Reply नहीं करती..
तब Whatsapp के Status पे भी नाम मेरा लिखा,
अब कहती है तुम दिल के अच्छे हो यार,
पर तुम्हें उस Angle से नहीं देखा..
Shopping, Movie, Longdrive – Awww
तुम मेरी कितनी care करते हो..
मैं भी ना बिलकुल Dumb हूँ,
तुम सबकुछ Share करते हो..
मेरा बाबू, सोना, बच्चा ये सुनके,
जब हमने लांघ ली रेखा,
अब कहती है, “why are you so desperate?
कहा ना, तुम्हें उस Angle से नहीं देखा..
मेरे Credit card से वो खाना मुझे खिलाती थी,
पहनके western, मेरे I phone से फोटो Shoot करवाती थी..
जब देखकर तेरा swagger मैं crazzy हो बैठा,
अब कहती है तुम समझते क्यों नहीं हो यार,
तुम्हें कभी उस Angle से नहीं देखा..      
मेरा हाथ पकड़कर हाथ में,
तुम भीगी थी बरसात में..
मेरी तारीफे हंसकर करती थी,
कि जादू है तुम्हारी बात में..
तेरा कहना आज भी चुभता है,
कि जीना तुमसे है सीखा..
अब कहती है, हम सिर्फ दोस्त रहेंगे ना यार,
कभी तुम्हें उस Angle से नहीं देखा..


Baap Ka Maal Samjha Hai Kya?