Sabka Kata Hai Tera Bhi Katega by Amit Auumkar

the digital shayar
Dosti ka yhin Badal Niklega Jab Ishq Ka Badal Chatega
Baki Tu Likh Ke Lele Bhai, Sabka Kata Hai Tera Bhi Katega

तो ये जो कविता है वो बॉर्डर फिल्म के मथुरादास टाइप के करैक्टर के लिए यानि कि उन धोखेबाज़ दोस्तों के लिए, जिनको जब गर्लफ्रेंड मिल जाती है तो वो अपने दोस्तों को यानि कि भाइयों को भूल जाते है.. अबे मथुरादास तुझे बंदी मिल गयी तो भाइयों को भूल गया तू, हमारा फ़ोन नहीं उठाता तू..लेकिन बेटा ये याद रखना..

दोस्ती का यहीं बादल निकलेगा जब इश्क़ का बादल छटेगा,
बाकि तू लिख के लेले भाई, सबका कटा है तेरा भी कटेगा..

भाई की गाडी लेके उसके साथ डेट पे जाता है तू,
हमारे साथ फ्रेंडशिप डे नहीं मनाया कभी,
लेकिन उसके साथ वैलेंटाइन डे मनाता है तू..
लेकिन फिर भी बड़ा दिल है हमारा भाई है तेरे,
अबे हम ही सीलेंगे इश्क़ में तेरा जो भी फटेगा..
बाकि तू लिख के लेले भाई इसका उसका मेरा,
अबे सबका कटा है भाई तेरा भी कटेगा..

भाई देख तू गलती करेगा तो हम ही समझायेंगे..
साले चाहे तुझे कितनी भी गली देले,
जरुरत में हम ही तेरे काम आएंगे..
मानले जब तू कटवा के आएगा तो यहाँ जश्न होगा,
और तेरा जितना भी गम है वो सभी भाइयों में बटेंगा..
अबे ये प्यार व्यार चार दिन के खेल है..
इनके चक्कर में उम्र भर की दोस्ती को भूल गया तू..
तो आज से गद्दारो की लिस्ट में तेरा नाम है,
और यकीन मान ये नाम इस लिस्ट से इतनी आसानी से नहीं मिटेगा..
बाकि तू लिख के लेले भाई, सबका कटा है तेरा भी कटेगा..

~Amit Auumkaar

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ना ना बेटा, तुमसे ना हो पायेगा ये कॉपी