Wo Mera Intzaar Kar Raha Hai by Goonj Chand

the digital shayar

Wo Mera Intzaar Kar Raha Hai by Goonj Chand

क्या कहा वो मेरा इंतज़ार कर रहा है
पागल बना रहा है वो तुम्हे और मजाक कर रहा है

इंतज़ार तो हमने किया था ताउम्र उसका,
वो तो बस दिखावे के लिए महान बन रहा है..
क्या कहा वो मेरा इंतज़ार कर रहा है
पागल बना रहा है वो तुम्हे और मजाक कर रहा है

बोहत फायदा उठाया था उसने मेरे प्यार का…
आज हु एक मुकाम पे तो सरेआम इजहार कर रहा है…
वो तो बस दिखावे के लिए महान बन रहा है….
क्या कहा वो मेरा इंतज़ार कर रहा है
पागल बना रहा है वो तुम्हे और मजाक कर रहा है

डूबा रहता जो नशे में सुबह शाम…
आज वो मंदिर में जा – जा कर दान कर रहा है …
वो तो बस दिखावे के लिए महान बन रहा है…
क्या कहा वो मेरा इंतज़ार कर रहा है
पागल बना रहा है वो तुम्हे और मजाक कर रहा है

नफरत करता था जो कभी सूरत से मेरी…
आज वो फेसबुक , इंस्टा , ट्विटर पे मेरा दीदार कर रहा है …..
वो तो बस दिखावे के लिए महान बन रहा है…
क्या कहा वो मेरा इंतज़ार कर रहा है
पागल बना रहा है वो तुम्हे और मजाक कर रहा है

नहीं दीखता था जिसको अपने ईगो के आगे कुछ भी…
वो आज सबसे सर झुकाये मिल रहा है …
वो तो बस दिखावे के लिए महान बन रहा है….
क्या कहा वो मेरा इंतज़ार कर रहा है
पागल बना रहा है वो तुम्हे और मजाक कर रहा है

जाओ केह दो उससे अब मुझे उसकी जरुरत नहीं…
कहा मेरे चक्कर में इतने बबाल कर रहा है….
वो तो बस दिखावे के लिए महान बन रहा है…
क्या कहा वो मेरा इंतज़ार कर रहा है
पागल बना रहा है वो तुम्हे और मजाक कर रहा है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ना ना बेटा, तुमसे ना हो पायेगा ये कॉपी